LED Full Form In Hindi – एल ई डी का फूल फॉर्म क्या होता है

Quetion/सवाल – LED Full Form, LED Full Form In Hindi, LED का मतलब क्या होता है ? LED का पूरा मतलब, LED का क्या उपयोग होता है ? LED का पूरा नाम क्या होता है ?
Answer/जवाब

LED Full Form – Light Emitting Diod
एल ई डी का फूल फॉर्म – प्रकाश उत्सर्जक डायोड

LED क्या होता है

यह प्रकाश उत्सर्जित करने वाला एक प्रकार का तकनीक है जिसका आज के जमाने में बहुत से जगहों पर होता है ऐसा भी कहा जा सकता है की LED का प्रयोग आजकल हर घरों में होता है । ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा जो LED शब्द से वाकिफ ना हो । यह एक ऐसा तकनीक है जिससे तीव्र प्रकाश उत्पन्न किया जाता है आसान भाषा में समझें तो इस तकनीक में एक माध्यम में विद्युत प्रवाहित करने पर तीव्र प्रकाश उत्पन्न होता है जो सामान्य प्रकार के लाइट या रोशनी से कुछ अधिक चमक देता है ।

इस LED का प्रयोग घरों में प्रयोग होने वाली बल्बों या टॉर्च में प्रयोग किया जाता है । इसे आज के जमाने का एक महत्वपूर्ण खोज भी माना जाता है क्योंकि यह काम ऊर्जा का उपयोग करके ज्यादा मात्रा में प्रकाश उत्पन्न करता है जो इससे पहले के बल्बों से कई गुना बेहतर होता है ।

अगर इसकी तकनीक को देखें तो यह एक रंगहीन अर्धचालक होता है जो चार्ज वाहक का पुनर्संयोजन होता है । इस LED का तरंदैध्र्य लाल किरणों के लिए लिए लगभग 700 नैनोमीटर के आस पास होता है । यह पी ए एन जक्शन डायोड होता है जिसमें ऊर्जा या विद्युत प्रवाहित करने पर इलेक्ट्रॉन इस अर्ध चालक में तेजी से गति करते हैं और फोटोन में परिवर्तित वह होकर चमक उत्पन्न करते हैं जिस कारण से LED में तेज प्रकाश उत्पन्न होता है । इस तकनीक में कम विद्युत पर भी तेज प्रकाश उत्पन्न होती है जिसे आज के युग में बहुत महत्वपूर्ण खोज माना जाता है और ऐसा माना जाता है कि आने वाले दिनों में इस तकनीक से भी बेहतर तकनीक विकसित की जा सकती है जिससे विद्युत कि बचत की जा सकती है ।

LED लाइट से केवल एक ही रंग की प्रकाश नहीं बल्कि कई रंगों की प्रकाश उत्पन्न की जा सकती है जिसके कारण इस तकनीक का उपयोग घरों में उपयोग होने वाले बल्बों एवम् टॉर्च से बढ़कर बहुत से जगहों में हो गया है । इस तकनीक का उपयोग चमचमाती बल्बों के रूप में घरों – दुकानों और विभिन्न इमारतों के सजावट के लिए भी प्रयोग किया बहुत ही बढ़ चढ़ कर किया जा रहा है इसके अलावा TV, mobile जैसे उपकरणों में भी इसका प्रयोग किया रहा है ।

LED का इतिहास

अगर LED का इतिहास देखा जाए तो LED के बारे में ब्रिटिश खोजकर्ता H. J. Round ने सबसे पहले 1907 में अपने lab में पता किया था । वे इलेक्ट्रॉनिक संबंधित प्रयोग कर रहे थे तब उन्हें इसके बारे में पता चला उसके कुछ समय बाद सन् 1962 में Nick Holonyak और J Round ने सर्वप्रथम Red LED का आविष्कार किया ।

इसके पश्चात अन्य वैज्ञानिकों का ध्यान भी इस ओर आकर्षित हुआ और वे भी इस खोज के बारे में और खोज में लग गए और क्रमश LED की नई विकसित खोज होने लगी 1972 में yellow LED की खोज M. George Craford ने कि जबकि 1976 में Pearsall ने तीव्र प्रकाश वाला LED बनाया । इसके बाद LED की नई नई खोज हुई जिसे आप आज देख और उपयोग कर रहे हैं । कुछ समय पश्चात एम जॉर्ज क्रॉफर्ड ने पीली और लाल-नारंगी एल.ई.डी. की खोज की।

LED की कार्य प्रणाली क्या है

LED एक छोटा चिप होता है जो अर्ध चालक द्वारा निर्मित होता है इसमें  विद्युत देने पर इसमें इलेक्ट्रॉन प्रवाहित होती है और इलेक्ट्रॉन आवेशित होती है जिस कारण से गैलियम आर्सेनाइड से बना यह चिप में विद्युत ऊर्जा प्रकाश ऊर्जा में परिवर्तित हो जाता है जिसके कारण से तीव्र प्रकाश उत्पन्न होता है यह एक सामान्य लाइट की तुलना में 40% ज्यादा प्रकाश उत्पन्न करता है जिस कारण से इसे इसे ज्यादा महत्व दिया जाता है ।

LED का उपयोग

LED एक उन्नत तकनीक है जिसका उपयोग लैपटॉप, टीवी, मोबाइल एवम् डिस्प्ले में किया जाता है । इसके अलावा कई रंग बिरंगी LED light की भी खोज हो गई है । यह LED अन्य टेक्नोलॉजी से बेहतर टेक्नोलॉजी माना जाता है । LCD और LCR की तुलना में इसका प्रयोग किया जाता है ।

इसके अलावा सामान्यतः LED Light और टॉर्च में इसका प्रयोग किया जाता है । विभिन्न प्रकार के डिस्प्ले में भी इसका उपयोग किया जाता है । इसके अलावा इसका निम्न उपयोग है –

1. यह कम विद्युत का खपत करता और साथ ही सामान्य लाइट की तुलना में ज्यादा प्रकाश उत्सर्जित करती है साथ ही इसका जीवनकाल अत्यधिक होता है इसलिए इसका उपयोग रोशनी उत्पन्न करने के लिए किया जाता है ।
2. इसका उपयोग शहरों में विज्ञापन प्रदर्शित कराने के लिए किया जाता है ।
3. घर दुकान एवम् विभिन्न भवनों को त्योहारों और विभिन्न अवसरों पर सजावट करने के लिए रंग बिरंगी LED लाइट का प्रयोग किया जाता है ।
4.  ट्रैफिक सिग्नल में इसका प्रयोग किया जाता है ।
5. कैलकुलेटर , घड़ी जैसे छोटे छोटे डिजिटल प्रोडक्ट्स के डिस्प्ले में भी इसका उपयोग किया जाता है ।

Conclusion

LED आज के जमाने में एक बहुत ही महत्वपूर्ण खोज है । भले ही भविष्य में इससे भी बढ़िया कोई तकनीक विकसित क्यों न कर लें मगर फिलहाल तो ऐसा ही लग रहा है कि अन्य लाइट तकनीकों की तुलना में इसका प्रयोग ही करना चाहिए और सही देखा जाए तो इसका हर जगह उपयोग हो भी रहा है । लगभग हर जगहों में LED ने अपना एक भिन्न स्थान बना लिया है ।

यह एक टिकाऊ, ज्यादा लाभदायक और विद्युत बचत करने वाले तकनीक है साथ ही यह छोटे छोटे साइज में भी उपलब्ध होता है जिस कारण से इसे एक जगह से दूसरे जगह ले जाने में आसानी होती है । यह LED विभिन्न रंग उत्पन्न करने में सक्षम होती है जिसका अगर उपयोग अन्य खोज करने एवम् मौजूदा टेक्नोलॉजी को और अधिक विकसित करने के लिए किया जाए तो न जाने और कितना अधिक विकास किया जा सकता है । फिलहाल तो LED प्रकाश के लिए एक बहुत ही सही तकनीक है पर अभी भी अभी लोग इसका उपयोग नहीं करते इसलिए इसका और भी प्रचार प्रसार करना चाहिए जिससे इसकी उपयोगिता पढ़े ।

Leave a Comment