ज्योति प्रकाश दत्ता बॉलीवुड के एक प्रचलित फिल्म निर्देशक हैं । इन्होंने कई मशहूर फिल्मों बॉर्डर, एल ओ सी कारगिल जैसे प्रचलित फिल्मों का निर्देशन किया है ।


JP dutta bio



नामज्योति प्रकाश दत्ता
जन्म तिथि3 अक्टूबर 1949
जन्मस्थलबॉम्बे, महाराष्ट्र भारत
उपनामदत्ता, दत्ता साहब
पितास्व ओ पी दत्ता
पुत्रीनिधि और सिद्धि दत्ता
भाईस्व दीपक दत्ता
प्रथम फिल्मगुलामी (1985)
पत्नीबिंदिया गोस्वामी
व्यवसायफिल्म निर्देशक, प्रोड्यूसर तथा लेखक


जीवनी


जे पी दत्ता का पूरा नाम ज्योति प्रकाश दत्ता है । उनका जन्म 3 अक्टूबर 1949 को बॉम्बे (मुंबई), महाराष्ट्र में हुआ था । उनके पिता का नाम ओ पी दत्ता है । उनके पिता एक फिल्म निर्देशक और लेखक थे इसी से प्रेरित होकर जे पी दत्ता ने अपना कैरियर फिल्म निर्देशन में चुना । जेपी दत्ता एक फिल्म निर्देशक के साथ साथ एक अच्छे फिल्म प्रोड्यूसर और लेखक भी हैं ।


इनका विवाह फिल्म अभिनेत्री बिंदिया गोस्वामी के साथ हुआ । वे पहली बार बिंदिया को 1976 में शरहद फिल्म सेट में मिले थे । तब वो विनोद मेहरा की पत्नी थी मगर उन दोनों का रिश्ता सही नहीं था इसलिए दोनों को एक दूसरे से इश्क हो गया और दोनों ने 1985 में शादी कर ली । इनकी दो बेटियां भी है जिनका नाम निधि और सिद्धि है । कई मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इनकी बेटियां भी जल्द बॉलीवुड में प्रवेश कर सकती हैं । उनकी प्रचलित फिल्में देशभक्ति और एक्शन फिल्में होती है । 


फिल्मी करियर


उन्होंने फिल्मी कैरियर की शुरुवात अपने पिता से ही प्रेरित होकर की । उन्होंने अपने फिल्म कैरियर की शुरुवात 1985 में "गुलामी" से की । इनकी पहली फिल्म गुलामी में धर्मेंद्र और मिथुन चक्रवर्ती जैसे सुपरहिट कलाकार थे । ऐसा नहीं है कि उनकी कैरियर बहुत आसान था उन्होंने अपने इस कैरियर में बहुत सारे उतार चढ़ाव का सामना भी किया ।


उन्होंने एक फिल्म सरहद को अपने भाई दीपक दत्ता को समर्पित कर दिया । उनके भाई भारतीय वायु सेना में थे और ड्यूटी के दौरान उनकी जान चली गई । अपने भाई की याद में उन्होंने फिल्म को रिलीज करने की बजाय उसे उनके नाम पर ट्रिब्यूट कर दिया ।


उन्होंने बार्डर फिल्म के लिए अभिनेता अजय देवगन से बात की मगर कुछ कारणों से अजय देवगन ने यह फिल्म साइन नहीं की । बार्डर फिल्म काफी चर्चित और देशभक्ति फिल्म है जो लोगों के मन की देशभक्ति के भावना को जागृत कर देती है । इस फिल्म में कई बड़े अभिनेता मुख्य रोल में नजर आए । यह पूर्ण रूप से एक देशभक्ति फिल्म थी जिसमें सरहद पर तैनात जवानों की जिंदगी का चित्रण करने का प्रयास किया गया है । इस फिल्म को बहुत प्यार मिला ।


इनके फिल्मों में कई बड़े अभिनेता और अभिनेत्री काम कर चुकी हैं । इन्हें इनके फिल्मों के कारण से कई बार सम्मानित भी किया जा चुका है । इनके पिता इन्हे कई फिल्मों के लिए डायलॉग लिखने में मदद भी किए है ।


इनकी फिल्में


• 1985  – गुलामी

• 1988  – यतीम

• 1989  – हथियार

• 1989  – बटवारा

• 1993 –  क्षत्रिय

• 1997 – बॉर्डर

• 2000 –  रिफ्युज़ी

• 2003 – एल ओ सी कारगिल

• 2006 –  उमराव जान


सम्मान 


• सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के लिए फिल्मफेयर अवार्ड 1998 - बार्डर

• राष्ट्रीय एकता पर सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म के लिए नरगिस दत्त पुरस्कार 1998 -  बार्डर

• सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के लिए जी सिन अवार्ड 1998 - बार्डर

 

 

Previous Post Next Post